PM Vishwakarma Yojana 2024 : सभी कारीगरों को मिलेगा 3 लाख तक का लोन और ₹15000 का लाभ, ऐसे करें आवेदन

PM Vishwakarma Yojana 2024 : देश में ऐसे कई कुशल कारीगर हैं जिनके पास हुनर होने के बाद भी वे बेरोजगार हैं, इनमें ज्यादातर लोग विश्वकर्मा समुदाय से आते हैं। केंद्र सरकार द्वारा इन्हीं समुदाय के 140 जातियों के कारीगरों और शिल्पकारों के लिए एक नई योजना की शुरुआत की गई है जिसे प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना के नाम से जाना जाता है। इस योजना के तहत कारीगरों और शिल्पकारों को कई लाभ प्राप्त होते हैं जिनमें कौशल प्रशिक्षण, टूलकिट खरीदने के लिए सहायता राशि और ट्रेनिंग के दौरान प्रत्येक दिन के लिए 500 रुपए का स्टायपेंड लाभ शामिल है।

PM Vishwakarma Yojana

प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना क्या है?

विश्वकर्मा समुदाय के कारीगरों और शिल्पकारों के हुनर को निखारने के लिए केंद्र सरकार ने PM Vishwakarma Yojana की शुरुआत की है। इस योजना के तहत हितग्राहियों को कौशल प्रशिक्षण, ट्रेनिंग स्टायपेंड, टूलकिट खरीदने के लिए वित्तीय सहायता और इसी के साथ प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना सर्टिफिकेट भी प्रदान किया जाता है ताकि हितग्राही अपने स्किल को निखार कर बिना किसी आर्थिक तंगी के खुद का व्यवसाय शुरू कर सकें। सुनार, लोहार, मूर्तिकार जैसे कई कारीगर हैं जो अपने हुनर से आय अर्जित कर सकते हैं इसलिए केंद्र सरकार इनकी मदद के लिए यह योजना लेकर आई है।

इस योजना के तहत सरकार विश्वकर्मा समुदाय में आने वाले 140 जातियों के कारीगरों और शिल्पकारों को कौशल प्रशिक्षण, टूलकिट खरीदने के लिए 15 हजार रुपए तक की आर्थिक सहायता और ट्रेनिंग के दौरान प्रत्येक दिन के लिए 500 रुपए का स्टायपेंड देती है। इसके अलावा जो सबसे बड़ा लाभ हितग्राहियों को मिल रहा है, वह ये कि 18 पारंपरिक व्यापारों से संबंधित कारीगर और शिल्पकार नया स्वरोजगार स्थापित करने या अपने व्यवसाय की वित्तीय आवश्यकता को पूरा करने के लिए प्रधानमंत्री विश्वकर्म योजना के अन्तर्गत 3 लाख रुपए तक का ऋण भी प्राप्त कर सकते हैं। जिस पर मात्र 5% वार्षिक ब्याज दर लागू की जाती है।

Pradhan Mantri Vishwakarma Yojana का उद्देश्य

पीएम विश्वकर्मा योजना एक ऐसी पहल है जो कारीगरों, शिल्पकारों और 18 पारंपरिक व्यवसायों से जुड़े नागरिकों का कौशल विकास सुनिश्चित करते हुए उन्हें कई वित्तीय सहायता लाभ प्रदान करती है। ऐसे कई कारीगर हैं जो अपनी कला में माहिर हैं लेकिन स्वरोजगार स्थापित करने के लिए आर्थिक रूप से सक्षम नहीं हैं, इन्हीं कारीगरों के लिए पीएम विश्वकर्मा योजना के तहत ऋण की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा जो कारीगर अपने हुनर को निखारना चाहते हैं या जिनके पास अपने कार्य संबंधित उपकरण खरीदने के लिए पैसे नहीं हैं उनके लिए भी इस योजना के तहत कौशल प्रशिक्षण तथा PM Vishwakarma Yojana Toolkit e Voucher का लाभ दिया जा रहा है। इसका उद्देश्य कारीगरों और शिल्पकारों का आर्थिक विकास करना है।

पीएम विश्वकर्मा योजना के लाभ (Benefit)

  • पीएम विश्वकर्म योजना के तहत विश्वकर्मा समुदाय से आने वाले कारीगरों और शिल्पकारों को कौशल प्रशिक्षण दिया जाता है।
  • कौशल प्रशिक्षण के दौरान हितग्राहियों को हर दिन 500 रुपए का स्टायपेंड दिया जाता है।
  • प्रशिक्षण के बाद लाभार्थियों को 15 हजार रुपए की आर्थिक सहायता औद्योगिक उपकरण खरीदने के लिए दी जाती है जिसे लौटने की आवश्यकता नहीं है।
  • प्रशिक्षण की समाप्ति के बाद कारीगरों और हितग्राहियों को सरकार की ओर से डिजिटल आईडी, विश्वकर्मा डिजिटल प्रमाण पत्र और पीएम विश्वकर्मा आईडी कार्ड प्राप्त होता है।
  • इसी के साथ केंद्र सरकार ने PM Vishwakarma Kaushal Samman Yojana के तहत स्वरोजगार स्थापित करने के लिए ऋण प्राप्त करने की भी सुविधा दी है।
  • बता दें कि इस योजना के तहत अपने उद्यम के लिए ₹300000 तक का लोन प्राप्त किया जा सकता है जिस पर  5% वार्षिक ब्याज दर लागू होती है।
  • यह ऋण राशि दो किस्तों में लाभार्थी को दी जाती है, पहले किस्त में 1 लाख रुपए दिए जाते हैं जिसे वापस लौटने के बाद दूसरी किस्त में 2 लाख रुपए प्रदान किए जाते हैं।
  • सहायता राशि हितग्राहियों के बैंक खाते में DBT के माध्यम से ट्रांसफर होती है।
  • ट्रेनिंग के दौरान लाभार्थियों के लिए निःशुल्क भोजन और रहने की व्यवस्था की जाती है।

प्रधानमंत्री विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना के लिए पात्रता

  • प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना का लाभ विश्वकर्मा समुदाय के अन्तर्गत आने वाले जातियों को दिया जाएगा।
  • यह लाभ  बग्गा, बघेल, पांचाल, भारद्वाज जैसे 140 जातियों से आने वाले आवेदकों को मिलेगा।
  • बता दें कि किसी प्रकार की कला में माहिर कारीगर और शिल्पकार ही योजना के लाभार्थी होंगे।
  • प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना के तहत 18 पारंपरिक व्यवसायों के कारीगरों और शिल्पकारों को कवर किया जाएगा।
  • आपको प्रमाणित करना होगा कि आपकी उम्र  18 वर्ष या इससे अधिक है।
  • बता दें कि योजना का लाभ एक परिवार के एक सदस्य तक ही सीमित है, यानि परिवार का एक ही सदस्य योजना के तहत आवेदन कर सकता है।
  • आवेदक गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन कर रहा है और आवेदक के पास कोई रोजगार नहीं है, तब की स्थिति में आवेदक योजना का लाभ ले सकता है।

डेयरी फार्मिंग व्यवसाय शुरू करने के लिए मिल रहा 40 लाख तक का लोन

पीएम विश्वकर्मा योजना लाभार्थी सूची

पीएम विश्वकर्मा योजना 2024 के अन्तर्गत विश्वकर्मा समुदाय से आने वाले 18 पारंपरिक व्यवसायों से जुड़े कारीगर और शिल्पकार लाभार्थी हैं, इन कारीगरों और शिल्पकारों की सूची नीचे दी गई है –

  • लोहार
  • धोबी
  • दर्जी
  • पत्थर तोड़ने वाले
  • सोनार
  • मोची
  • नाव निर्माता
  • बढ़ई
  • कुम्हार
  • माला बनाने वाला
  • नाई
  • ताले बनाने वाला
  • राजमिस्त्री
  • टोकरी और चटाई बनाने वाले
  • झाड़ू बनाने वाले
  • कॉयर बुनकर
  • हथौड़ा और टूलकिट निर्माता
  • मूर्तिकार (मूर्तिकार, पत्थर तराशने वाले)
  • गुड़िया और खिलौना निर्माता
  • मछली पकड़ने का जाल बनाने वाला
  • कुल्हाड़ियां और अन्य उपकरण बनाने वाले आदि।

सभी कारीगरों को मिल रहा टूलकिट खरीदने के लिए ₹15000 की सहायता राशि

पीएम विश्वकर्मा योजना के लिए लगने वाले दस्तावेज

अगर आप पीएम विश्वकर्मा योजना के तहत आवेदन करने के इच्छुक हैं तो पहले जांच लें कि आप निम्न दस्तावेजों की आपूर्ति कर सकते हैं या नहीं –

  • आधार कार्ड
  • पैन कार्ड
  • जाति प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • आयु प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • बैंक पासबुक
  • बैंक स्टेटमेंट
  • राशन कार्ड
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मूल निवास प्रमाण पत्र आदि।

PM Vishwakarma Yojana 2024 हेतु आवेदन कैसे करें?

यदि आप पीएम विश्वकर्मा योजना के तहत आवेदन करने के इच्छुक है तो इसके लिए आपको अपने नजदीकी जन सेवा केंद्र में जाना होगा क्योंकि जन सेवा केंद्र के अधिकारी ही सीएससी लॉगिन करके आपका पंजीकरण योजना के तहत कर सकते हैं। आप स्वयं इस योजना के तहत ऑनलाइन आवेदन नहीं कर सकते। आपको आवश्यक दस्तावेजों के साथ CSC Center जाकर पीएम विश्वकर्मा योजना ऑनलाइन अप्लाई करने के लिए रिक्वेस्ट करनी होगी।

प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना ऑनलाइन अप्लाई कैसे करें (PM Vishwakarma Yojana Registration)

  • सबसे पहले आप पीएम विश्वकर्मा पंजीकरण पोर्टल www.pmvishwakarma.gov.in पर विजिट करें। सीधे पोर्टल पर जाने के लिए दिए गए डायरेक्ट लिंक पर क्लिक करें।
  • अब आपके सामने होम पेज आएगा, यहां पर दिए गए “Apply/Register” के ऑप्शन पर क्लिक करें।
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने एक पेज खुल कर आएगा, इसमें यूजर आईडी और पासवर्ड एंटर करके CSC Login कर लें।
  • लॉगिन करने के बाद मोबाइल नंबर या आधार नंबर एंटर करें और ओटीपी वेरीफाई कर लें।
  • ओटीपी सत्यापन के बाद आपके सामने एक एप्लीकेशन फॉर्म ओपन होगा, इसमें मांगी गई सारी जानकारी सावधानी पूर्वक दिशा निर्देश का पालन करते हुए दर्ज कर लें।
  • उसके बाद मांगे गए महत्वपूर्ण दस्तावेजों को स्कैन करके अपलोड कर दें।
  • फिर नीचे दिए गए “सबमिट” के बटन पर क्लिक करके फॉर्म सबमिट कर दें।
  • इतना करने के बाद “पीएम विश्वकर्मा सर्टिफिकेट डाउनलोड” के बटन पर क्लिक करें और अपना सर्टिफिकेट डाउनलोड करें।
  • इस सर्टिफिकेट में दिए गए “विश्वकर्मा डिजिटल आईडी” को नोट कर लीजिए।
  • अब पुनः Login बटन पर क्लिक करके उस मोबाइल नंबर के माध्यम से लॉगिन कर लीजिए जिसे आपने पहले दर्ज किया था।
  • इसके बाद आपके सामने एक आवेदन खुलकर आएगा, इसे विधिवत भरकर सबमिट कर दीजिए।
  • इस तरह PM Vishwakarma Yojana हेतु आवेदन की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

PM Vishwakarma Yojana Application Status Check कैसे करें?

पीएम विश्वकर्मा योजना के तहत आवेदन करने के उपरांत आप नीचे दिए गए चरणों का पालन करके पीएम विश्वकर्मा योजना स्टेटस चेक कर सकते हैं –

  • पीएम विश्वकर्मा योजना आवेदन स्थिति की जांच करने के लिए पहले आप पीएम विश्वकर्मा पंजीकरण पोर्टल पर विजिट करें।
  • अब दिए हुए “Beneficiar Login” के बटन पर क्लिक करे।
  • क्लिक करने के बाद एक नया page खुलकर आएगा।
  • इसमें मांगे गए जरूरी क्रेडेंशियल को दर्ज करके सबमिट कर दें।
  • इतना करने के बाद आपके सामने पीएम विश्वकर्मा योजना आवेदन की स्थिति प्रस्तुत हो जाएगी।

Leave a Comment

Floating Telegram Button Telegram Icon
error: Content is protected !!